जलेसरः सब्जी और मीट मण्डी 

Updated: Apr 1, 2021

अब नवरात्र खत्म हो गये हैं तो हम जलेसर की मीट मण्डी के बारे में लिख सकते हैं। पर उससे पहले सुबह-सुबह जलेसर सब्जी मंडी की सैर करवा देते हैं।

अगर आप जल्दी उठ जाते हो और घर वाले आपको सब्जी खरीद कर लाने को बोलते हैं तो निश्चय ही आप जिम्मेदार बन चुकें है, क्योंकि सब्जी खरीदना अपने आपमें बहुत बड़ी कला है।

सब्जी मंडी के एरिया में कुछ स्थायी और बड़ी दुकानें हैं बाकी बहुत सारे सब्जी वाले अस्थायी तौर पे सुबह बन्द बाजार के शटरों के आगे सब्जियां बेचते हैं और मेन बाजार खुलने के टाइम तक माल बेचकर निकल लेतें हैं।

अब चलते हैं मीट मण्डी।

यहाँ पर भी लगभग पाँच- सात दुकानें होगीं। मीट की दुकानों पर आपको कोई साज-सज्जा नजर नही आयेगी। बस ताजा कटे हुए बकरे लटके नजर आयेंगे, साथ ही क्रेटों में कैद मुर्गे (बोइलर चिकन) दिखेंगे। यहाँ का दृश्य काफी कुछ मध्ययुगीन लगेगा। भारी भरकम लकडी के टुकड़े पर वजनी सा पैना चाकू लिए मीट काटते हुए दुकानदार। हाँ, साथ ही भिन्न-भिन्न टाइप की स्मैल और फुदकती मक्खियां। सारा परिदृश्य स्याह सा।

मीट खरीदना भी एक हुनर है, जो खाते हैं वही जानते हैं।

अगर आपको और डिटेल्स देखनें हैं तो यह रहा वीडियो।👇🏼



52 views0 comments