जलेसर और इसकी नगर पालिका के बारे में कुछ रोचक तथ्य।

Updated: Feb 3, 2021

जलेसर शहर का एरिया मात्र चार वर्ग किलोमीटर है, यह एक पुराना और काफी घनी आबादी वाला क्षेत्र है। इतने से एरिया में 6846 मकान बनें हैं, यहाँ औसतन हर एक किलोमीटर के दायरे में 10390 लोग रहते हैं। इसका मतलब यह है कि सब लोग एक-दूसरे वाई फेस जानते हैं।

और हाँ, ये आंकड़े 2011 में हुई जनगणना पर आधारित हैं।

यहाँ का मौसम भी अपने रंग दिखाता है। जब नीचे जाता है तो 4°C तक पहुँच जाता है और गर्म होता है तो पारा 48.2°C की आग बरसाता है। और बारिश... पूरे साल भर की मिला लो तो 925.5 मिलीमीटर बैठती है। जोकि उत्तर प्रदेश के औसत 990 मिलीमीटर 64.5 mm कम है।

जलेसर में शिक्षा का प्रतिशत इस प्रकार है: लगभग 70 से 75% शिक्षित पुरूषों की संख्या है, महिलाओं की पढाई में जलेसर भी कम है यहाँ 64% महिलाये साक्षार है।

जलेसर नगर पालिका परिषद में कुल 25 वार्ड हैं। जिसमें वार्ड नंबर 10 सबसे ज्यादा आबादी वाला है, यहाँ 2012 परिवार रहते हैं और वार्ड नंबर 14 में सबसे कम यानि 1117 परिवार रहते हैं।

2011 की जनगणना के अनुसार जलेसर की टोटल आबादी 38000 थी।

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि जलेसर तहसील में और कोई नगर पालिका नहीं है। बस एक खुद की नगर पालिका है बाकी जलेसर तहसील में सब ग्राम पंचायत ही हैं।

Data references:

courtesy to- indikosh.com and cencus2011. co.in

82 views0 comments

Recent Posts

See All