इक्छेश्वर महादेव मंदिर, पटना पंछी विहार, जलेसर।

पटना पक्षी विहार के श्रेत्र में प्रवेश करते ही आपको सबसे पहले शिव मंदिर दिखायी पढ़ेगा।

यह महाभारत कालीन मंदिर, पूर्ण इक्छेश्वर महादेव के नाम से प्रसिध्द है। बताया जाता है इस शिवलिंग की स्थापना मगध के राजा जरासंध ने की थी।

यहाँ पर प्रतिष्ठित शिवलिंग 30 फीट नीचे धरातल में समाया हुआ है और यह मंदिर इसी प्राचीन शिवलिंग पर पुनःनिर्मित किया गया है।

अतः शिवलिंग एक कुण्ड में स्थित प्रतीत होता है। शिवलिंग तक पहुँचने के लिए लिए दो तरफ पैडियाँ बनी हैं।

प्रायः शिवलिंग सफेद मार्बल या काले ग्रेनाइट के बने होते हैं पर यह शिवलिंग काफी विशाल गुलाबी सेण्ड स्टोन से बना लगता है।

कुण्ड के आधार से यह लगभग 3 से 4 फीट ऊँचा होगा। लोगों को विश्वास है कि जो सच्चे मन से यहां आता है उसकी इच्छा पूरी होती है।

इसी लिए लोग शिवलिंग को कौरिया (bear hug) में भरकर प्रार्थना करते दिख जायेंगे।

यहां हर साल सावन और शिवरात्रि पर मेले का आयोजन किया जाता है, लोग भारी संख्या में दर्शन के लिए पहुंचते हैं।

56 views0 comments

Recent Posts

See All